सती अनुसूया

अत्री मुनि, उनकी पत्नी अनुसूया और उनके तीन बेटों ने यहाँ ध्यान एवं तप किया। अनसूया के नाम पर एक आश्रम यहां स्थित है। यह माना जाता है कि मंदाकिनी नदी, सती अनुसूया के ध्यान के परिणामस्वरूप उत्पन्न हुई है।