गणेशबाग

रेलवे स्टेशन से लगभग 5 किमी दूर बांके सिद्धपुर गांव के निकट कर्वी-देवंगाना रोड पर, गणेशबाग स्थित है, जहां एक बड़ा
नक्काशीदार मंदिर, सात मंजिला बावली और एक आवासीय महल के अवशेष अभी भी मौजूद हैं। परिसर को पेशवा विनायक राव
ने गर्मियों के प्रवास के लिए बनावाया था। इसे मिनी-खजुराहो के रूप में जाना जाता है।